ग्रामीणों ने दिया निगम को अल्टीमेटम : समय पर हो समाधान

मीनेश चंद्र मीना
हैलो सरकार न्यूज़ ब्यूरो चीफ


जमवारामगढ़। जयपुर जिले के तहसील जमवारामगढ़ में अघोषित बिजली कटौती को लेकर खफा ग्रामीणों ने रतनपुरा जीएसएस पहुंच कर सभी फीडरों की बिजली सप्लाई बंद करवा दी है। जिसके बाद ग्रामीणों ने निगम अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी करते हुए धरने पर बैठे गये। सूचना के बाद मौके पर गठवाड़ी सरपंच बाबूलाल मीणा और रायसर थाना पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे।
मामले की सूचना देने के बाद भी निगम के जिम्मेदार अधिकारियों के नहीं पहुंचने से ग्रामीण आक्रोशित हो गए। जिस पर सरपंच मीणा ने मामले की शिकायत निगम के सीएमडी भास्कर ए सावंत से की। जिसके बाद मौके पर निगम के शाहपुरा एक्सईएन एसके श्रीवास्तव दो जेईएन के साथ मौके पर पहुंचे।

बिजली कटौती से परेशान ग्रामीणों ने निगम के अधिकारियों का किया घेराव


निगम अधिकारियों के पहुंचने पर ग्रामीणों ने नारेबाजी करते हुए एक्सईएन घेराव करके ग्रामीणों ने अपनी समस्याएं सुनाई। ग्रामीणों ने निगम अधिकारियों को 10 दिन में बिजली संबंधित सभी समस्याओं का निस्तारण करने का अल्टीमेटम दिया गया है। निगम अधिकारियों और ग्रामीणों में आपसी सहमति बनने के बाद शांत हुए ग्रामीणों ने बिजली सप्लाई शुरू करायी।
ग्रामीणों ने यह भी चेतावनी दे डाली कि बिना किसी कारण और सूचना के बिजली कटौती की जायेगी तो उग्र आंदोलन किया जायेगा। जिसका जिम्मेदार खुद विद्युत विभाग होगा। इस मौके पर अंकित शर्मा, राकेश सैनी, फूलचंद भामू, हरसहाय जाट, बलदेव दौराता, गिरधारी लाल खटाणा सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहें।
ये बताई समस्याएं
ग्रामीणों ने निगम अधिकारियों को पिछले 10 दिन से अघोषित बिजली कटौती को बंद करने, गठवाड़ी फीडर से जोड़े गए धलेर फीडर को हटाने, जीएसएस पर मोबाइल की सुविधा उपलब्ध करवाने, तीन साल से अटके सीटी लाइन को चालू करवाने सहित समस्याओं से अवगत कराया गया।
जिस पर एक्सईएन ने उच्च अधिकारियों से वार्ता कर शीघ्र समस्याओं का निस्तारण करने की बात कही। साथ ही विभाग के अधिकारियों ने निरंतर बिजली सप्लाई चालू रहने का अश्वाशन दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here