दिनदहाड़े जयपुर में 15.48 लाख रुपए की लूट : जमानत पर जेल से हो रहे हैं छूट

हैलो सरकार क्राइम रिपोर्टर
जयपुर। जब-जब भी चुनाव का मौसम शुरू होता है, तब-तब ही राज्य में कभी चड्डी बनियान गैंग, तो कभी अंडरवियर गैंग, तो कभी जरकन गैंग के नाम से राज्य में अचानक अपराध का ग्राफ बहुत तेजी से बढ़ जाता है। जैसे ही चुनाव संपन्न होने के बाद सरकार बन गई तो सारे गैंग वाले भूमिगत हो जाते हैं। पिछले कई सालों से ऐसा ही चलता रहा है।
गौरतलब है कि राजस्थान की राजधानी इन दिनों क्राइम कैपिटल के तौर पर भी पहचान बनाने लगी है। लगातार यहां अपराध का ग्राफ बढ़ रहा है। डकैती, किडनैपिंग और मर्डर जैसे केसों की बढ़ती संख्या पुलिस के लिए चुनौती बने हुए हैं।
करीब दस दिन पहले शहर में एक आटा व्यापारी से हुई करीब सवा करोड़ लूट के मामले में अब तक पुलिस के हाथ खाली हैं। वहीं, आज दिनदहाड़े एक और व्यापारी को पांच बदमाशों ने लूट लिया। घटना के करीब छह घंटे बीतने के बाद भी पुलिस अब तक आरोपियों का पता नहीं लगा सकी है।
दरअसल, शनिवार को सुबह करीब 11.15 बजे पांच बदमाशों ने करणी विहार थाना क्षेत्र में एक टिम्बर बिजनेसमैन के यहां लूट की। झोटवाड़ा ASP प्रमोद स्वामी ने बताया कि वारदात करणी विहार एक्सप्रेस हाईवे के पास स्थित अग्रवाल वुड्स के यहां हुई। उन्होंने बताया कि बदमाशों ने शोरूम मालिक और उसके कर्मचारियों को पिस्टल के दम पर बंधक बनाकर 15.48 लाख रुपए लूट लिए।
मिली जानकारी के अनुसार अग्रवाल वुड्स का मालिक विवेक अग्रवाल सुबह आमदिनों की तरह अपने शोरूम के ऑफिस में बैठे थे। शोरूम में उसका एक वर्कर काम कर रहा था। इसी दौरान 2 बाइक पर 5 नकाबपोश बदमाश आए। शोरूम में घुसते ही वर्कर को पकड़कर अंदर ऑफिस में ले गए। ऑफिस में हथियारों से लैस बदमाशों को देखकर व्यापारी विवेक डर कर चिल्लाने लगा। बदमाशों ने पिस्टल और चाकू के दम पर दोनों को ऑफिस के अंदर बंद कर लिया। शोरूम में बने ऑफिस में दोनों के हाथ बांधकर मारपीट की। उन्होंने गोली मारने की धमकी देकर व्यापारी के सिर पर चाकू से वार किया।
घटना के बाद व्यापारी विवेक ने बताया कि उसके ऊपर पिस्टल तानकर बदमाश बोला- जितने भी पैसे है दे दें। नहीं तो गोली मार देंगे। ऑफिस का गेट बंद कर रस्सी से दोनों के हाथ-पैर बांध दिए। जान से मारने की धमकी देकर सेफ की चाबी मांगी। सेफ खोलकर उसमें रखे 15 लाख 48 हजार रुपए निकाल लिए।
उसके बाद भी और कैश कहां रखा है कहकर धमकाने लगे। इतने ही रुपए होने की कहने पर फिर गोली मारने की धमकी दी। गोली मत मारना कहने पर बोल- वर्कर को गोली मारेंगे। उसके बाद टेप लगाकर मुंह बंद कर दिया। रुपए लूटकर जाते समय ऑफिस से बाहर आने पर जान से मारने की धमकी दी।
पड़ोसी और उसकी पत्नी ने खोली रस्सी
शोरूम में डकैती डालने आए बदमाश करीब 10 मिनट में वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए। डर के मारे व्यापारी और वर्कर ऑफिस में ही बैठे रहे। काफी समय तक किसी प्रकार की आवाज नहीं आने पर थोड़ी हिम्मत आई। जैसे-तैसे बाहर निकलकर देखा तो बदमाश और उनकी दोनों बाइक नहीं खड़ी थी।
बाहर निकलने पर पड़ोसी महेश गुप्ता ने व्यापारी और वर्कर को रस्सी से बंधे देखा, जिनके मुंह पर टेप लगी थी। पत्नी के साथ मिलकर दोनों को रस्सी को खोलकर बंधन मुक्त कराया। शोरूम में डकैती का पता चलने पर पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here