अशोक कुमार मीणा प्रतिभा सम्मान समारोह में वीर शहीद नानक भाई भील सामाजिक नेतृत्व पुरस्कार एवं प्रशस्ति पत्र से हुए सम्मानित

रवि प्रकाश जूनवाल
हैलो सरकार ब्यूरो प्रमुख
जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने उदयपुर के मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय में आयोजित 10वें अंचल स्तरीय जनजाति प्रतिभा सम्मान समारोह एवं सर्व समाज शिक्षक गौरव समारोह-2022 में प्रतिभाओं को सम्मानित किया।


गौरतलब है कि मेवाड़ मालवा की मोहनलाल सुखाड़िया यूनिवर्सिटी कैंपस में विवेकानंद सभागार के अंदर मुख्यमंत्री महोदय द्वारा जनजाति प्रतिभा सम्मान समारोह में सामाजिक क्षेत्र में सेवा के लिए योगदान करने वाले प्रतिभाओं में बैंकिंग क्षेत्र से अशोक मीणा मुख्य प्रबंधक, स्टेट बैंक, अनुसूचित जाति जनजाति अध्यक्ष जयपुर सर्किल, स्टेट बैंक ऑफीसर्स ऑर्गेनाइजेशन के राष्ट्रीय महासचिव, नेशनल ऑर्गेनाइजेशन ऑफ बैंक ऑफिसर वर्किंग प्रेसिडेंट अशोक मीणा को प्रशंसा पत्र देखकर सॉल उड़ाकर सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर कार्यक्रम में जनजाति विकास मंत्री श्री अर्जुन बामनिया, सांसद श्री अर्जुनलाल मीणा, डूंगरपुर सांसद श्री कनकमल कटारा, राजस्थान जन अभाव अभियोग निराकरण समिति के अध्यक्ष श्री पुखराज पाराशर, पूर्व सांसद श्री रघुवीर सिंह मीणा, पूर्व विधायक श्री सज्जन कटारा, गोविन्द गुरू ट्राइबल यूनिवर्सिटी के वीसी श्री टी सी डामोर अन्य गणमान्य अतिथियों एवं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रतिभा सम्मान समारोह में प्रदेश के बड़ी संख्या में प्रतिभाओं को सम्मानित कर गौरवान्वित किया।


आपको बता दें कि राजस्थान प्रदेश के जनजाति वर्ग के समाजसेवी अशोक कुमार मीणा बस्सी तहसील के झर गांव के रहने वाले हैं तथा बैंक कर्मचारियों के संगठनों के मुख्य पदाधिकारी भी हैं। जनजाति समाज के युवाओं को कौशलयुक्त उच्च शिक्षा हेतु लगातार प्रोत्साहित करने एवं उनकी सहायता हेतु हमेशा तत्पर रहने पर सराहनीय कार्यों के लिए वीर शहीद नानक भाई भील सामाजिक नेतृत्व पुरस्कार एवं प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया।


काबिले गौर है कि वीर शहीद नानक जी भील जीवन परिचय रियासती काल में सामंती लाग-बाग और बैठ-बैगार से व्यथित होकर राजस्थान सेवा संघ के मार्गदर्शन में अप्रैल, 1922 ई. में बिजोलिया की सीमा से जुड़े बूंदी राज्य के बरड़ क्षेत्र में किसान आन्दोलन हुआ। 2 अप्रैल, 1923 को डाबी नामक स्थान पर सामंती सेना द्वारा की गई गोलीबारी में राष्ट्रवादी व स्वतन्त्रता प्रेमी नेतृत्व नानक जी भील झण्डा गीत गाते हुए शहीद हो गये। इसलिए उनकी याद में प्रतिवर्ष प्रतिभा सम्मान समारोह आयोजित किया जाता है।


मुख्यमंत्री ने उदयपुर कलेक्टर श्री ताराचंद मीणा को श्री मानगढ़ धाम गौरव पुरस्कार से सम्मानित किया। उन्होंने दुर्गाराम मुवाल और महेंद्र कुमार मीणा को नाना भाई खांट शिक्षक गौरव पुरस्कार से, डॉ किरण मीणा को आदिकवि महर्षि वाल्मीकि गौरव पुरस्कार, सीडीपीओ दीपिका मीणा को मेवाड़ वीर राणा पुंजा भील प्रतिभा पुरस्कार, पवन पुत्र निःशुल्क कोचिंग संस्था के संचालक रणवीर ठोलिया को वीर शहीद नानक भाई भील सामाजिक नेतृत्व पुरस्कार, डॉ सुनील मीणा को वीर बालक एकलव्य पुरस्कार, राज कलासुआ को शहीद जनजाति वीर बाला कालीबाई पुरस्कार तथा दृष्टिहीन क्रिकेट में अपना लोहा मनवाने वाले ललित मीणा को धनुर्धर श्री लिंबाराम पुरस्कार से सम्मानित किया।


कार्यक्रम में जनजाति विकास मंत्री श्री अर्जुन बामनिया, सांसद श्री अर्जुनलाल मीणा, डूंगरपुर सांसद श्री कनकमल कटारा, राजस्थान जन अभाव अभियोग निराकरण समिति के अध्यक्ष श्री पुखराज पाराशर, पूर्व सांसद श्री रघुवीर सिंह मीणा, पूर्व विधायक श्री सज्जन कटारा, गोविन्द गुरू ट्राइबल यूनिवर्सिटी के वीसी श्री टी सी डामोर सहित जनप्रतिनिधि, उच्चाधिकारी एवं जनसमूह उपस्थित था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here