अवैध रूप से चल रही क्रेशर मशीनों के प्रदूषण से जनता परेशान

विक्रम घाटी
हैलो सरकार निजी संवाददाता
बस्सी : स्थानीय प्रशासन की लापरवाही एवं मिलीभगत से जयपुर जिले के तहसील बस्सी के ग्राम भाटा में अवैध खनन के साथ-साथ अवैध रूप से क्रेशर मशीनें धड़ल्ले से चल रही है।

सरकारी चरागाह भूमि में डस्ट को डालने से मवेशियों के चरने की बड़ी परेशानी हो गई। पशुओं के लिए चरने की जगह नहीं बची।


गौरतलब है कि आरबी स्टोन क्रेशर के नाम से ग्राम घाटा, तहसील बस्सी में अवैध रूप स्टोन क्रेशर मशीनें चल रही है। आसपास के लोगों ने हैलो सरकार संवाददाताओं को बताया कि उचित मापदंड अपनाए बिना स्टोन क्रेशर मशीनें चलने से डस्ट इतनी भयंकर रूप से हवा में घुल जाती है कि सांस लेना बडा दुभर हो रहा है।
भयंकर रूप से प्रदर्शन होने के कारण लोगों के खाने में भी डस्ट (बुरादा) मिल जाता हैं। इतना ही नहीं सरकारी चरागाह भूमि में डस्ट को डालने से मवेशियों के चरने की बड़ी परेशानी हो गई। पशुओं के लिए चरने की जगह नहीं बची। कभी-कभी तो भयंकर डस्ट हवा में फैल जाने के कारण वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो जाते हैं। सड़क पर पैदल आदमी नहीं चल सकता है।

भयंकर डस्ट हवा में फैल जाने के कारण वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो जाते हैं। सड़क पर पैदल आदमी नहीं चल सकता है।


ग्रामवासी क्रेशर मशीन के मालिक ललित खंडेलवाल को प्रदूषण कम करने के लिए निवेदन करते हैं तो ग्राम वासियों को क्रेशर मालिक जेल में बंद करवाने की धमकी देता है। कहता है मेरी अप्रोच बहुत ऊपर तक है, तुम मेरा कुछ भी नहीं बिगाड़ सकते हो। मैं चाहूं तो पूरे गांव को चुटकियों में जेल में भिजवा सकता हूं। गांव के लोग क्रेशर मालिक की धमकियों से डर जाने के कारण कहीं भी शिकायत नहीं करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here