इसे जरूर पढ़ें : धोखाधड़ी होने पर तुरंत आप इस प्रकार प्राप्त कर सकते हो सहायता

रवि प्रकाश मीणा जूनवाल
हैलो सरकार ब्यूरो चीफ
जयपुर। धोखाधड़ी होना आम बात हो गई है, लेकिन पुलिस ने ऑनलाइन धोखाधड़ी से बचने के लिए आम जनता के लिए कुछ उपाय बताए हैं। समय रहते हुए उन उपायों से सावधानी बरतकर पुलिस को सूचना कर दे तो ठगी के शिकार से बच सकते हैं।


सबसे पहले वित्तीय धोखाधड़ी होने पर शिकायत दर्ज कराना जरूरी है। वित्तीय धोखाधड़ी हो जाने पर तुरंत 1930 डायल कर साइबर क्राइम हेल्पलाइन पर शिकायत करें, जिसमें फ्रॉड ट्रांसेक्शसेन की पूर्ण जानकारी साझा करें। उसके बाद अपने बैंक को जाकर सूचित करें और अपने एकाउंट की जमा राशि की निकासी पर रोक लगवाए एंव एकाउंट का स्टेटमेंट प्राप्त करें।


इसके साथ ही उक्त फ्रॉड ट्रांसेक्शसेन की बैंक में एप्लिकेशन लिख यूटीआई / आईएमपीएस/एनईएफटी / आरटीजीएस ट्रांसेक्शसेन के बेनिफिशियरी एकाउंट की डिटेल्स लें। तत्पश्चात 1930 पर शिकायत के 24 घण्टे के भीतर cybercrime.gov.in पर जाकर अपनी जानकारी का पूर्ण विवरण दें।
इसके तुरंत बाद नज़दीकी थाना पुलिस को शिकायत में पासबुक /क्रेडिट कार्ड ट्रांजैक्शजैन की बैंक स्टेटमेंटमें की कॉपी खुद के द्वारा सत्यपित व ट्रांसेक्शसेन चिन्हित करके दें। फ्रॉडस्टर से हुई वार्तालाप या चैट के स्क्रीनशॉट ले व शिकायत के साथ संलग्न करें।
इस प्रकार आप ऑनलाइन ठगी से बच सकते हैं। लेकिन इस पर आपको तभी होगा जब आप समय पर उचित कार्रवाई कर सकते हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here