फसलों की कटाई शुरू, लेकिन मौसम दे सकता है धोखा

हैलो सरकार न्यूज़ नेटवर्क


बस्सी : राजस्थान में फसलों की कटाई शुरू हो गई है परंतु लगातार मौसम के बदलते मिजाज के कारण किसानों के चेहरे पर मायूसी छाई हुई है।
इस महंगाई के युग में खेती करना बहुत महंगा हो गया। फसलों के दाम बढ़ने रहे हैं, इसलिए किसानों के ऋण का चुकारा सही समय पर नहीं पाते हैं‌। परिणाम स्वरूप किसान अपनी आन – बान – शान को बचाने के लिए आत्महत्या करने के लिए मजबूर हो जाते हैं।

किसानों की फसल की कटाई शुरू लेकिन मौसम का मिजाज कर सकता है फसल को नुकसान


भारत एक ऐसा देश है, जहां पर अन्नदाता के रूप में किसान के गुणगान तो खूब करते हैं परंतु जब उस पर संकट आता है तो चाहे राज्य सरकार हो अथवा केंद्र सरकार हाथ खड़े कर देते हैं। जबकि बड़ी-बड़ी फैक्ट्रियों के मालिक टैक्स चोरी करने में अब्बल, बिजली चोरी करने में अब्बल, फर्जी कंपनी बनाने में अब्बल, लोगों के साथ धोखाधड़ी कर ठगी करने में अब्बल है उसको राज्य सरकार हो या केंद्र सरकार उनके कहने मात्र से ही ऋण माफ कर देते हैं।

पल पल में बदलते मौसम के मिजाज के कारण किसानों को बार-बार चिंता सता रही है कि कहीं असर खराब ना हो जाए


भारत में जितना टैक्स किसान और मजदूर देते हैं उतना टैक्स वह बड़े पूंजीपति क्षेत्र के लोग नहीं देते हैं। क्योंकि पूंजीपति लोग अपनी वार्षिक विवरणिका में हेराफेरी करके आंकड़ों का मकडजाल फैलाकर बड़े पैमाने पर टैक्स चोरी कर लेते हैं।
किसान और मजदूर वर्तमान समय में सिर्फ सांस लेना टैक्स फ्री है, बाकी रोटी, कपड़ा और मकान तथा आवश्यक वस्तुओं की कमरतोड़ महंगाई के कारण भरपूर मात्रा में टैक्स अदा करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here