मुआवजा दे बीमा कंपनियां किसानों को तुरंत :: अन्यथा होगी कार्रवाई

रवि प्रकाश जूनवाल
हैलो सरकार ब्यूरो प्रमुख


जयपुर : राजस्थान सरकार के मुख्य सचिव श्रीमती उषा शर्मा ने निर्देश दिये कि काश्तकारों के लम्बित बीमा क्लेम के शीघ्र निस्तारण के लिए बीमा कम्पनियों से सम्पर्क कर किसानों को मुआवजा दिलवा कर उन्हें राहत प्रदान की जाए। श्रीमती शर्मा सोमवार को शासन सचिवालय स्थित अपने कक्ष में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रही थी।
मुख्य सचिव ने निर्देश दिए कि खरीफ-2022 में फसल कटाई का ऑनलाइन रिकार्ड शतप्रतिशत होना चाहिए। इसके लिए कृषि अधिकारी अपने जिला कलक्टरों से समन्वय स्थापित करें।

मुख्य सचिव श्रीमती उषा शर्मा ने निर्देश दिये कि काश्तकारों के लम्बित बीमा क्लेम के शीघ्र निस्तारण के लिए बीमा कम्पनियों से सम्पर्क कर किसानों को मुआवजा दिलवा कर उन्हें राहत प्रदान की जाए।


समीक्षा बैठक में कृषि विभाग के आयुक्त श्री कानाराम ने बताया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत विगत तीन वर्षो में अब तक 16 हजार करोड़ के बीमा क्लेम वितरित किये जा चुके हैं। इस वर्ष खरीफ -2022 में लगभग 2.20 करोड़ की फसल बीमा पॉलिसियां सृजित की जा चुकी हैं। इस के अन्तर्गत 66 लाख हैक्टेयर क्षेत्र का बीमा किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष मानसून के दोरान अतिवृष्टि से जल भराव के कारण जिन किसानों को फसल खराबे का नुकसान हुआ हैं। उनका सर्वे का कार्य भी जारी हैं। सर्वे उपरान्त किसानोें को फसल खराबे का उचित मुआवजा शीघ्र ही दिलवाया जायेगा।
बैठक में सहकारिता विभाग की प्रमुख शासन सचिव श्रीमती श्रेया गुहा भी उपस्थित थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here